BJP की वजह से शेयर मार्केट में डूबे निवेशकों के 45 लाख करोड़ रुपए?...पहले बाजार में तेजी फिर EXIT POLL में गड़बड़ी और करोड़ों हुए खाक



post

लोकसभा चुनाव के दौरान शेयर मार्केट में देश के ज्यादातर लोगों ने निवेश किया और लोकसभा चुनाव का परिणाम आते आते बाजार में जबरदस्त तेज़ी को देख करीब 5 करोड़ लोगों ने अपनी पूंजी झोंक दी।अनिश्चितता के इस बाजार में लोगों को धक्का तब लगा जब करीब 5 करोड़ लोगों का लगभग 45 लाख करोड़ रुपए चुनाव का परिणाम आते ही डूब गया।

जानिए कैसे डूबा लोगों का 45 लाख करोड़ रुपए,किसकी जेब में गया इतना पैसा

दरअसल शेयर बाजार के इतिहास पर नज़र डालें तो देश में स्पष्ट बहुमत की सरकार होने के दौरान इसने शानदार ग्रोथ दर्ज की है। जबकि गठबंधन वाली सरकारों में बाजार में तेजी नहीं आती।लेकिन  राहुल गांधी के मुताबिक इस चुनाव के संपन्न होते ही प्रधानमंत्री मोदी,अमित शाह ने लोगों को शेयर खरीदने की नसीहत दे दी फिर मीडिया के झूठे Exit Poll में मोदी सरकार का 400 सीट लाने का दावा और फिर चुनाव परिणाम के दिन निवेशकों के लाखों करोड़ रुपए खाक में बदल जाना ये सब  सोची समझी साजिश के तहत हुआ है।


Rahul Gandhi राहुल गांधी ने आज प्रेस कॉफ्रेंस कर बताया कि देश में पहली बार निवेशकों को शेयर खरीदने  देश के प्रधामनंत्री मोदी और  गृह मंत्री अमित शाह ने प्रेरित किया।तो इसमें प्रधानमंत्री और गृह मंत्री की क्या भूमिका है।ऐसा पहली बार हुआ जब प्रधानमंत्री ने आने वाले दिनों में शेयर में भारी उछाल बता कर  शेयर की तरफ ध्यान देने कहा और फिर निवेशकों ने मीडिया के EXIT POLL पर आंख बंद कर BJP की 400 सीट जीतने वाले दावे के साथ अपनी जमा पूंजी लगा दी और परिणाम  स्वरूप सेंसेक्स 6000 अंक के साथ औंधे मुंह गिरा और कई निवेशकों की जमापूंजी डूब गई।


राहुल गांधी ने यह भी बताया कि जो ग्रुप इस व्यापार में शामिल है उसी ग्रुप की मीडिया को प्रधानमंत्री ने 2 इंटरव्यू भी दिए।अब राहुल गांधी ने उसे 45 लाख करोड़ का घोटाला बताते हुए JPC जांच की मांग की।


PUBLICSWARNEWS शेयर बाजार SHAREMARKET

You might also like!